‘Operation Durachari’ से पहले Anti-Romeo Squad लाई थी योगी सरकार, फिर भी महिलाओं के खिलाफ क्राइम में टॉप पर था UP!

उत्तरप्रेदश की योगी सरकार इस बार महिला सुरक्षा के लिए बिल्कुल अलग तरह की रणनीति लेकर आयी है। इसी रणनीति का नाम ‘आपरेशन दुराचारी’ है। जिसके तहत महिलाओं और लड़कियों में सुरक्षा की भावना पैदा करने के लिये उत्तर प्रदेश सरकार उनके साथ छेड़खानी, यौन उत्पीड़न तथा ऐसे ही अन्य अपराधों में शामिल लोगों के पोस्टर सार्वजनिक स्थानों पर लगवा ऐसे अपराधियों को बेइज्जत करेगी।
बता दें कि पिछले कुछ महीनों से राज्य में महिला केंद्रित अपराध तीव्र गति से बड़े हैं। यौन उत्पीड़न, छेड़छाड़ , गैंगरेप , हत्या आदि की कई घटनाएं सामने आयी हैं। माना जा रहा है कि लगातार बढ़ते अपराध से सरकार पर जन दवाब बढ़ रहा था। इसीलिए सरकार इस नई नीति के साथ आयी है। उल्लेखनीय है कि योगी सरकार ने इससे पहले भी सरकार बनते ही महिला सम्बंधित अपराध रोकने के लिए ‘एन्टी-रोमियो स्क्वाड’ का गठन किया था। यह एंटी रोमियो स्क्वाड काफी विवादित रही था। एन्टी-रोमियो स्क्वाड की कार्रवाइयों को लेकर कई बार आलोचना हुई थी।
एन्टी रोमियों स्क्वाड या सीधे एनकाउंटर जैसी नीतियों के बाद भी उत्तरप्रेदश महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराधों में देश में निरंतर टॉप पर बना हुआ है। साल 2018 में देश मे महिलाओं के खिलाफ होने वाले कुल अपराध में उत्तरप्रेदश की हिस्सेदारी 16% की थी। जो देशभर में सबसे अधिक थी।
एनसीआरबी (NCRB) के 2018 के आंकड़ों के अनुसार देश में महिलाओं के खिलाफ कुल 3 लाख 78 हज़ार 227 मामले दर्ज हुए थे । जिनमें से सिर्फ उत्तरप्रेदश में 59 हज़ार 445 मामले दर्ज हुए। वही 2017 में कुल 56 हज़ार 011 मामले दर्ज हुए थे। वर्ष 2017 और 2018 में अपराधों के मामले में लगातार उत्तर प्रदेश देश मे प्रथम स्थान पर रहा था।

Show More

Related Articles